(एकमात्र संकल्‍प ध्‍यान मे-मिथिला राज्‍य हो संविधान मे) अप्पन गाम घरक ढंग ,अप्पन रहन - सहन के संग,अप्पन गाम घर में अपनेक सब के स्वागत अछि!अपन गाम -अपन घर अप्पन ज्ञान आ अप्पन संस्कारक सँग किछु कहबाक एकटा छोटछिन प्रयास अछि! हरेक मिथिला वाशी ईहा कहैत अछि... छी मैथिल मिथिला करे शंतान, जत्य रही ओ छी मिथिले धाम, याद रखु बस अप्पन गाम ,अप्पन मान " जय मैथिल जय मिथिला धाम" "स्वर्ग सं सुन्दर अपन गाम" E-mail: madankumarthakur@gmail.com mo-9312460150

गुरुवार, 2 दिसंबर 2010

विद्यापति स्मृति पर्व समारोह

( समस्त मैथिल मिथिला वाशी के ,श्रेष्ठ गन के नमस्कार आ छोटका नन्हां बोवा - बुची सब के प्यार भरल शुभ आशीष)---



जय मैथिल जय मिथिला

समस्त मैथिल, मिथिला वाशी अपनेक सब गोटे आमंतरण छी ,
नॉएडा स्टेडियम के प्रांगन में दिनांक -०४ - १२- २०१० के
समय - रात्रि समय के ७ बजे से भोर तक

विद्यापति स्मृति पर्व समारोह 
                            के आयोजन कैय्ल गेल अछि ,

        अहि समारोह में अप्पन मिथिला के जानल - पहचानल गायक वा गायिका सब भाग लेतैथ , हुनक मनोबल बढाबाई के लेल , ओही में अहूँ लोकेन अप्पन समस्त परिवारक संग आबी के हुनक लोकेन के स्वागत करी आ संगीतक आनंद उठावी ,

जय मैथिल , जय मिथिला

1 टिप्पणी:

  1. HAM AHI SAMAROH ME GEL CHHELO BAHUT NIK , AA SAJAL OHITHAMAK BAIBASTHA BAHUT NIK LAGAL
    SANSTHAPANK KE DHANYWAD DAIT MAN ATI PARSNY BHEL

    JAY MAITHIL JAY MITHILA

    उत्तर देंहटाएं